Home Stories कोई भी समस्या इतनी बड़ी नहीं हो सकती कि समाधान न हो...

कोई भी समस्या इतनी बड़ी नहीं हो सकती कि समाधान न हो सके, एक बार ठान कर तो देखिये

148
0
large problem easy solution
large problem easy solution



एक किसान का बहुत बड़ा खेते था। लेकिन, उस खेत के बीच में ,क पत्थर जमीन से ऊपर निकला हुआ था। इससे ठोकर खाकर किसान और अनेक लोग कई बार गिर चुके थे।

इस पत्थर से टकराकर उसकी खेती के कई औजार भी टूट चुके थे। किसान को लगता था कि यह पत्थर जमीन के भीतर दबी किसी बड़ी चट्टान का हिस्सा है, इसलिये , उसने कभी इसे निकालने की कोशिश भी नहीं की।

एक दिन किसान अपने खेत में हल चला रहा था, लेकिन ,क बार फिर उसका हल इस पत्थर से टकराकर टूट गया । झटका लगने से वह भी गिर पड़ा और उसे चोट लग गयी |

इस बार उसे बहुत क्रोध आया और उसने तया किया कि वह इस पत्थर को निकाल कर ही दम लेगा वह भागा भागा गांव में गया और कई लोगो को बुला लाया |

उसने सभी साथियों से कहा कि इस पत्थर ने उसका बड़ा नुकासान किया है। आप सब लोग मेरा साथ दे तो हम इस पत्थर को निकाल सकते है।

उसके साथियों ने कहा कि वह इसके लिए तैयार है और आने औजार लेकर आते है। किसान ने उस दिन पत्थर को खेत से निकालकर बाहर फेंकने का तय कर लिया था, इसलिए वह कोई देरी नहीं चाहता था। लोगो का इन्तज़ार किये बिना अकेले ही पत्थर के चारों ओर खोदना शुरू किया ।

वह कुछ ही फुट खोद पाया था कि पत्थर का निचला सिरा आ पहुंचा। जिससे वह बड़ी चट्टान समझ रहा था वह ,क मामूली सा पत्थर निकला।


इतनी देर में उसके साथी भी आ गये , लेकिन तब तक किसान खुद ही उस पत्थर को निकाल चुका था। उसने पत्थर को खेत की मेढ़ पर रख दिया।

किसान को पछतावा हुआ कि उसने परखे बिना ही इस मामूली पत्थर को चट्टान समझ लिया और इस पत्थर को निकालने की कोशिश भी नहीं की।

अगर उसने पहले ही ऐसा किया होता तो इतने सालों तक उसका कोई नुकसान नहीं होता। हम भी कई बार जिंदगी में आने वाली छोटी छोटी बाधाओं को बहुत बड़ा समझ लेते है, और उनसे निपटने की बजाय तकलीफ उठाते रहते है।

जरुरत इस बात की है कि बिना समय गवाएं बाधाओं को दूर करने की कोशिश कर देनी चाहिए । इससे कुछ ही समय में चट्टान सी दिखने वाली समस्या एक छोटे से पत्थर के समान दिखने लगेगी , जिसे हम ठोकर मार कर आगे बढ़ सकते है।

सीखः- हम कई बार समस्या की जड़ में गए बगैर उसे बड़ा मान लेते है और बचने की कोशिश करते है। जब इसे हल करने की ठान लेते हैं तो पता चलता है कि वह तो बहुत छोटी थी।

Photo by Keith Jonson on Unsplash